sad-girl-alone-in-love-sad-girl-in-rain-wallpaper-hd-desktop

आज हँसी आती है खुद पर
कि ज़िन्दगी क्या से क्या हो गई
जो कभी सब दुःख भुला देती थी
दुःख देने वाली आज वही जुबाँ हो गई

दो कदम अकेले न चलने वाली राहें
आज खुद-ब-खुद तनहा हो गई
जिससे प्यार था इस दिल को
घुटन की अब वही वजह हो गई

सिसकियाँ भी अब खामोश हो चुकी
चीखें भी अब गुमशुदा हो गई
आँखें हर वक़्त नम रहती हैं
दर्द भरी हर कहकशाँ हो गई

चहचहाता परिंदा थी जो कभी
आज वो जीव बेजुबाँ हो गई
बस तकलीफें रह गई झोली में
खुशियाँ सब तबाह हो गई

मरने का इंतज़ार रह गया बाकि
ज़िन्दगी अब एक सजा हो गई
छीन ले मुझको मुझसे ही अब
खुदा से हर यही दुआ हो गई

Picture taken from: http://www.chainimage.com
Advertisements