लड़ाइयाँ

कुछ लड़ाइयाँ तुम्हें खुद ही लड़नी होती हैं, तुम्हारे भीतर जो बवंडर है उसे संभाल कर रखना, काम आएगा साँस के साथ, अगर हो सके तो शांति का घूँट पी लेना ना चाहते हुए हाथ गुस्से का जाम आएगा मगर तुम पीना नहीं क्योंकि वो छलावा है ये संसार के रिश्ते एक दिखावा है जो…

भिंडी की सब्जी

भिंडी की सब्जी मुझे बहुत पसंद है माँ हमेशा कहती है भिंडी को धोकर फिर अच्छी तरह पोंछ कर तब काटना चाहिए चाकू पर चिपचिपाहट नहीं रहती आज कई महीनो बाद घर आई तो माँ ने कहा भिंडी बनाती हूँ तेरे लिए और लाकर रख दी मेरे सामने पानी में डाली हुई भिंडी बड़ी शिद्दत…

चलो आज रोया जाए।

Pic Credits : pexels.com चलो आज रोया जाए, पुरानी यादों को जो सालों से संजोया था, आज उन यादों के तले बने हुए नासूरों को, एक बार फिर से कुरेदा जाए। हम रोते जाएंगे आप चुप मत कराना, छू-अछूत सा होता है दर्द, आप ज़रा भी मेरे पास ना आना। रुख़सार से जो सरके आंसू-ए-ग़म…