दूसरा मौका

ये दोस्ती की गज़लें प्यार के गीत ना गुनगुनाएं तो कहना जो तेरा दामन भी मेरे रंग में ना रंग … More

कैदी

कहो कुछ तो ऐसा कि सुकून मिल जाए मेरे सोए हुए सपनों को जूनून मिल जाए याद दिलाओ मुझे फिर … More

नमक वाली शिकंजी

मैंने पूछा, मीठा या नमकीन? ना जाने क्यूँ,वो पहले मुस्कुराई एक बार मेरी तरफ देखा और एक बार शिकंजी बेचने … More

दोस्ती से प्यार तक

जानती थी उसे कई दिनों से, या यूँ कहूं कई महीनों से, सालों से उसके जवाबों से, उसके सवालों से … More

Happy Independence Day

वो रात याद है क्या ? नहीं किसी को भी नहीं जो आज़ादी के बाद आए, कम से कम उनको … More

बंजारा

एक सुनसान से घर में एक तकिया और चादर के साथ रहता हूँ कोई नहीं होता आस पास लोगों के … More

सुनो, मैं यहीं रहूँगी…..

सुनो, मैं यहीं रहूँगी तुम जब मुड़कर देखोगे यहीं, मुस्कुराती हुई तुम्हारे जाने का गम छुपाती हुई मगर, तुम बस … More

सच

सच क्या है? वो जो हमें दिखाई देता है? नहीं! तो फिर वो जो हम अपने कानों से सुनते हैं? … More

आज़ादी

दर्द जो तूने दिया कितना गहरा उतरा सीने में ना ख़ुशी रही ना हसीं रही तब एक पल भी जीने … More